इस देश में पटरी के ऊपर नहीं बल्कि पटरी के नीचे लटक कर चलती है रेलगाड़ी, देखिए कहां है

Suspension Railways Wuppertal, Germany - Photo: Social Media

यूरोपीय देश जर्मनी में एक ऐसी रेल सेवा भी है जिसमें रेलगाड़ियां ट्रैक पर लटक कर चलती हैं। बेहद पुरानी इस रेल सेवा की शुरुआत सन 1901 में ही हो गई थी। जर्मनी के वुप्पर्टल शहर में चलाई जाने वाली इन लटकती रेल गाड़ियों में रोज़ाना तकरीबन 82 हजार लोग सफर करते हैं।

Suspension Railways Wuppertal, Germany – Photo: Social Media

चलिए आज हम आपको इन पटरी से लटकती रेलगाड़ियों यानि सस्पेंसन रेलवे के बारे में और जानकारी देते हैं।

एक बार हुई थी दुर्घटना

एक रिपोर्ट के अनुसार जर्मनी की ये हैंगिंग रेलगाड़ी सिर्फ एक बार गंभीर दुर्घटना की शिकार हुई है। साल 1999 में एक लटकती रेलगाड़ी वुप्पर नदी में गिर गई थी। इस हादसे में 5 लोगों मृत्यू हुई थी और करीब 50 लोग घायल हो गए थे। इसके अलावा साल 2008 एंव साल 2013 में भी लटकती रेलगाड़ियां मामूली दुर्घटनाओं का शिकार हुईं थी, लेकिन उस दुर्घटनाओं में किसी की जान नहीं गई थी।

Suspension Railways Wuppertal, Germany – Photo: Social Media

इन लटकती रेलगाड़ियों के ट्रैक की कुल लंबाई 13.3 किलोमीटर है और ये वुप्पर नदी से 39 फीट की उंचाई पर चलती है। इन रेलगाड़ियों के रुकने के लिए कुल 20 स्टेशन बनाए गए हैं। ये रेलगाड़ियां बिजली से चलती है।

Suspension Railways Wuppertal, Germany – Photo: Social Media

इन रेलगाड़ियों के इस तरह लटक कर चलने की वजह ये है कि वुप्पर्टल शहर 19वीं सदी के आखिर तक अपने औद्यौगिक विकास के शीर्ष पर पहुंच गया था। यहां सड़कें तो थी, लेकिन उनका इस्तेमाल सिर्फ सामान ढोने के लिए और पैदल चलने वाले लोगों के लिए ही होता था। जमीन पर चल ट्राम चलाना काफी मुश्किल था क्योंकि जगह की कमी थी।

Suspension Railways Wuppertal, Germany – Photo: Social Media

इस इलाके के पहाड़ी इलाका होने के कारण यहां भूमिगत रेल भी नहीं चलाई जा सकती थी। इन हालातों में जर्मनी के कुछ इंजीनियरों ने लटकती रेलगाड़ी चलाने का निर्णय किया।

Suspension Railways Wuppertal, Germany – Photo: Social Media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *