रोज़ सुबह खूब मज़े लेकर कॉर्न फ्लेक्स खाने वालों, इसके निर्माण की कहानी सुनोगे तो हिल जाओेगे

Origin of Cornflakes - Photo: timesofindia.com

अगर हम इंसान एक लाइट और हेल्दी ब्रेकफास्ट के बारे में सोचते हैं तो हमारे दिमाग में ऑटोमेटिकली कॉर्न फ्लेक्स का नाम आता है। कॉर्न फ्लेक्स के साथ अच्छी बात ये है कि ये आसानी से मिल जाता है, झटपट तैयार हो जाता है और गपागप खा भी लिया जाता है। सुबह अगर किसी को जल्दी से घर से निकलना है तो उसके लिए कॉर्न फ्लेक्स ही नाश्ते का सबसे आसान और फटाफट रेडी होने वाला ऑप्शन है। कॉर्नफ्लेक्स की भी अपनी एक अलग कहानी है दोस्तों। हम इंसानों ने कब से कॉर्न फ्लेक्स को अपने खाने का हिस्सा बनाया इसके पीछे एक बड़ी ही रोचक सी कहानी है।

Origin of Cornflakes – Photo: timesofindia.com

आज हम आपको समय में पीछे की तरफ ले जाएंगे। हम जानेंगे कि किस आइडिया के आधार पर कॉर्न फ्लेक्स को बनाया गया था। कॉर्न फ्लेक्स के बारे में अनबिलिविबल और यूनीक फैक्ट क्या है।

Origin of Cornflakes – Photo: timesofindia.com

कब बनाया गया था कॉर्न फ्लेक्स?

कॉर्नफ्लेक्स के निर्माण के पीछे की वजह जो आज हम आपको बता रहे हैं आप उस पर शायद ही अभी भरोसा कर पाएंगे। लेकिन यकीन मानिएगा दोस्तों, ये एकदम सत्य है। कॉर्नफ्लेक्स को इसलिए खाने में शामिल किया गया था ताकि पुरुषों और महिलाओं के बीच किसी तरह का यौन आकर्षण ना रहे और मर्द और औरतें किसी यौन आवेग में ना बहे। जॉन हार्वे केलॉग नाम के एक सनकी फिजिशियन ने कॉर्न फ्लेक्स पहली दफा बनाए थे।

Origin of Cornflakes – Photo: timesofindia.com

जॉन 7th डे एडवेंटिस समुदाय से संबंध रखते थे। ये ईसाई धर्म का एक संप्रदाय है। इस संप्रदाय के लोगों सेक्स को अपवित्र मानते हैं। ये लोग वैवाहिक जीवन का विरोध करते हैं। सेक्स को इन लोगों की नज़रों में अनैतिक माना जाता है। जॉन हार्वे लोगों के लिए एक शुद्ध शाकाहारी डाइट तैयार करना चाहता था। जॉन शराब, मांस और कैफीन के सख्त खिलाफ था। उसका मानना था कि इन चीज़ों के सेवन से इंसान आवेशित हो जाता है।

Origin of Cornflakes – Photo: timesofindia.com

कैसे खाएं कॉर्न फ्लैक्स

जिस वजह से कॉर्न फ्लेक्स को उस सनकी फिजिशियन ने बनाया था वो तो साबित हो नहीं सकी, लेकिन दुनियाभर में कॉर्न फ्लेक्स हेल्दी नाश्ते के तौर पर लोकप्रिय अवश्य ही हो गया है। कॉर्नफ्लेक्स को लाइट ब्रेकफास्ट के तौर पर लोग खाना खूब पसंद करते हैं। हल्के गर्म दूध में चीनी या शहद मिलाकर कॉर्न फ्लेक्स खाना खूब पसंद करते हैं। कुछ लोग कॉर्न फ्लेक्स को दही या योगर्ट के साथ खाते हैं। ये लोग कॉर्न फ्लेक्स के साथ भुने हुए बादाम भी मिला लेते हैं।

Origin of Cornflakes – Photo: timesofindia.com

कुछ लोग कॉर्न फ्लेक्स को मूसली और ताज़े और छोटे-छोटे टुकड़ों में कटे फलों के साथ भी चाव से खाते हैं। जॉन हार्वे केलोग नाम के जिस सनकी फिजिशयन ने इन्हें बनाया था आज उसके नाम से एक अच्छी-खासी बड़ी कंपनी है जो दुनियाभर में कॉर्न फ्लेक्स बनाकर बेचती है।

कॉर्न फ्लेक्स के साथ कलाकारी

समय के साथ कॉर्न फ्लेक्स सिर्फ एक नाश्ता भर ही नहीं रह गया है। भारत में तो लोगोँ ने कॉर्न फ्लेक्स के साथ प्रयोग कर-करके इसे स्नैक के तौर पर इस्तेमाल करना भी शुरू कर दिया है। कॉर्न फ्लेक्स चना चाट से लेकर कॉर्न फ्लेक्स फ्रूट चाट तक, भारत में इसके साथ तैयार होने वाले ढेरों ऑप्शन्स आज आपको मिल जाएंगे। मॉडर्न ईरा शेफ्स ने तो कॉर्न फ्लेक्स की मदद से टिक्की और कबाब जैसे मुंह में पानी ला देने वाले आइटम्स भी तैयार करना सीख लिया है।

Origin of Cornflakes – Photo: timesofindia.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *