दुनिया में चौथे नंबर पर है Military Strength of India, देखें कौन से देश हैं भारत से आगे

Military Strength of India - Photo Courtesy: Youtube

भारत अपनी आज़ादी के 74वें साल का जश्न मनाने की तैयारी कर रहा है। एक बेहद लंबे संघर्ष के बाद आखिरकार 15 अगस्त 1947 को हमने भारत मां के पैरों में बरसों से बंधी गुलामी की बेड़ियों को तोड़ दिया था। आज़ादी मिलने के बाद से ही खुद को शक्तिशाली बनाने का भारत का सफर शुरू हो गया। आज भारत दुनिया के कुछ ऐसे देशों में शुमार होता है जिनके पास एक मजबूत और उन्नत सेना मौजूद है। दुनिया की चौथी सबसे बड़ी सेना भारत की सेना है।

चलिए आज जानते हैं, कि पिछले सात दशकों में Military Strength of India को देश ने कितना बढ़ाया है और वो कौन से देश हैं, Military Power के मामले में India से अधिक मजबूत हैं।

कितना ताकतवर है अमेरिका?

सबसे पहले बात करते हैं अमेरिका की। अपनी बेहद आधूनिक हवाई ताकत के चलते अमेरिका दुनिया का सबसे ताकतवर देश माना जाता है। अमेरिकी वायुसेना के पास ऐसे-ऐसे फाइटर जैट मौजूद हैं जो दुनिया में किसी भी और देश के पास नहीं हैं। खास बात ये है कि ये सभी विमान पांचवी पीढ़ी के हैं और बेहद एडवांस्ड टैक्नोलॉजी से लैस हैं।

Military Strength of India – Photo Courtesy: Pixabay

अमेरिकी वायुसेना के पास दुनिया का सबसे घातक फाइटर जेट एफ-22 रैप्टर मौजूद है। अमेरिकी वायुसेना के पास कुल 187 एफ-22 रैप्टर विमान हैं। लेकिन फिर भी अमेरिका संतुष्ट नहीं है और इनकी तादाद और ज़्यादा बढ़ाना चाहता है। वहीं अमेरिकी वायुसेना की ताकत को कई गुना ज़्यादा बढ़ा रहा है एडवांस्ड एफ-35 रैप्टर। एफ-35 रैप्टर जैट की मौजूदगी अमेरिकी वायुसेना को बेहद खतरनाक और ताकतवर बनाती है।

Military Strength of India – Photo Courtesy: Pixabay

अमेरिकी वायुसेना के पास कुल 13 हज़ार 362 विमान हैं। इनमें से 1962 विमान ऐसे हैं जो सीधे मैदान-ए-जंग में लड़ाई लड़ सकते हैं। 2820 ऐसे विमान हैं जो किसी भी दुश्मन पर घातक हमला कर सकते हैं। वहीं अमेरिकी वायुसेना के पास 973 अटैक हैलिकॉप्टर्स भी हैं। बात अगर टैंकों की हो तो अमेरिकी वायुसेना के पास 5884 जंगी टैंक हैं, जो ज़मीन पर किसी भी दुश्मन को धूल चटा सकने के काबिल हैं।

Military Strength of India – Photo Courtesy: Pixabay

बात अगर नेवी की हो तो अमेरिका इस मामले में भी हर लिहाज़ में आगे है। अमेरिका के पास कुल 416 जंगी जहाज हैं। इनमें 20 जहाज ऐसे हैं जो एयरक्राफ्ट कैरियर हैं। 10 ऐसे हैं जो समुद्र से ही दुश्मन पर आग बरसा सकते हैं। 65 ऐसे जहाज हैं जो समुद्र हो या ज़मीन, हर जगह दुश्मन को ध्वस्त कर सकते हैं और अमेरिकी नेवी के पास 66 पनडुब्बियां भी हैं।

रूस कहां ठहरता है?

मिलिट्री ताकत के मामले में रूस दुनिया का दूसरा सबसे ताकतवर देश है। दुनिया में सबसे ज़्यादा टैंक अगर किसी देश के पास हैं तो वो रूस ही है। हालांकि इनमें से आधे ऐसे हैं जो शीत युद्ध के समय के हैं और रूसी रक्षा विशेषज्ञ कहते हैं कि अगर अचानक इनकी ज़रूरत पड़ जाए तो इन्हें फिर से जंग लड़ने लायक बनाने में हफ्तों लग जाएंगे।

Military Strength of India – Photo Courtesy: Pixabay

हवाई ताकत के मामले में रूस अमेरिका से काफी पिछड़ गया है। रूस के पास कुल 3914 विमान हैं और इनमें भी केवल 818 विमान ऐसे हैं जो लड़ाकू हैं। हालांकि रूस के पास 416 हमलावर विमान और 511 अटैक हैलिकॉप्टर्स भी हैं। बात अगर टैंकों की करें तो रूस की सेना के पास 20 हज़ार से भी ज़्यादा जंगी टैंक मौजूद हैं।

Military Strength of India – Photo Courtesy: Pixabay

अगर नेवी की बात हो तो रशियन नेवी के पास कुल 352 जहाज हैं। अमेरिकी नेवी के मुकाबले रूसी नेवी की सबसे कमज़ोर कड़ी है उसके पास कुल एक एयरक्राफ्ट कैरियर होना। वहीं रशियन नेवी के पास 09 युद्धपोत और 13 विध्वंसक पोत भी हैं। इनके अलावा 78 कार्गो पोत भी रशियन नेवी में मौजूद हैं।

चीन कितना ताकतवर है?

सैन्य ताकत की बात हो तो चीन भी बेहद ताकतवर है। चीन पिछले कई सालों से खुद को हर क्षेत्र में अमेरिका के मुकाबले खड़ा करने की कोशिश कर रहा है। चीन का रक्षा बजट भारत से तीन गुना ज़्यादा है। फिलहाल सैन्य ताकत के मामले में दुनिया में तीसरे नंबर पर काबिज चीन की नज़रें रूस को पीछे धकेलकर जल्द से जल्द खुद दूसरे नंबर पर काबिज़ होने पर टिकी हैं।

China Daily via Reuters

चीन भले ही बेहद तेज़ी से महाशक्ति बनने की तरफ बढ़ रहा हो, लेकिन चीन की सेना के पास मौजूद ज़्यादातर टैंक पहली पीढ़ी के टैंक हैं। मतलब ये, कि ये टैंक काफी पुराने हैं। वहीं चीन सेना के भीतर पनप रहे भ्रष्टाचार से भी काफी ज़्यादा परेशान है। चीनी सेना के पास कुल 7 हज़ार 716 युद्धक टैंक हैं, जिनमें से अधिकतर काफी पुराने हैं।

Military Strength of India – Photo Courtesy: Pixabay

हवाई ताकत की बात करें तो चीनी वायुसेना के पास कुल 3 हज़ार 35 विमान हैं। इनमें से 1125 विमान लड़ाकू हैं। 1527 विमान हमलावर हैं। चीनी वायुसेना के पास 281 अटैक हैलिकॉप्टर्स भी मौजूद हैं।

Military Strength of India – Photo Courtesy: Pixabay

बात अगर जलसेना यानि नेवी की हो तो चीन के पास कुल 714 पोत हैं। चीन के पास भी रूस की ही तरह कुल एक एयरक्राफ्ट कैरियर पोत है। वहीं चीनी नेवी के पास 50 युद्धपोत हैं, 29 विथ्वंसक पोत हैं और 39 मालवाहक पोत हैं। चीन के पास 73 पनडुब्बियां भी हैं।

भारत कहां खड़ा है?

ग्लोबल फायर पावर इंडैस्क की रिपोर्ट के मुताबिक, सैन्य ताकत के मामले में भारत दुनिया का चौथा सबसे ताकतवर देश है। पिछले कई सालों से भारत अपनी हवाई ताकत बढ़ा रहा है। कुछ दिनों पहले ही भारतीय वायुसेना को 5 राफेल जेट मिले हैं। अभी कई राफेल जेट और आने हैं। भौगोलिक परिस्थितयों की वजह से भारतीय वायुसेना को मालवाहक और सैनिक विमानों पर भी काफी खर्च करना पड़ता है। भारतीय वायुसेना के पास कल 2185 विमान हैं। इनमें से 708 विमान मालवाहक और सैन्य विमान ही हैं।

Military Strength of India – Photo Courtesy: Pixabay

लड़ाकू विमानों की बात करें तो भारतीय वायुसेना के पास कुल 590 लड़ाकू विमान हैं। भारतीय वायुसेना के पास 804 हमलावर विमान भी हैं। भारत के पास 15 अटैक हैलिकॉप्टर्स और भारतीय सेना के पास 4 हज़ार 426 युद्धक टैंक भी हैं।

कैसे हैं पाकिस्तान के हालात?

मौजूदा वक्त में पाकिस्तान की सैन्य रैंकिंग 17वें नंबर है। दुनिया के कई ऐसे नामी रक्षा विशेषज्ञ हैं जिन्होंने ये दावा किया है कि पाकिस्तान अभी इस हालत में नहीं है कि वो भारत के साथ लंबे वक्त तक जंग लड़ सके। यही वजह है कि पाकिस्तान घुसपैठियों के ज़रिए भारत में अस्थिरता पैदा करना चाहता है।

Military Strength of India – Photo Courtesy: Pixabay

पाकिस्तानी वायुसेना के पास भारतीय वायुसेना के आधे, यानि कुल 1281 विमान हैं। इनमें भी मात्र 320 विमान ही लड़ाकू हैं। पाकिस्तानी वायुसेना के पास 410 हमलावर विमान हैं। 49 अटैक हैलिकॉप्टर्स हैं और 226 मालवाहक विमान हैं। टैंकों की बात हो तो पाकिस्तानी सेना के पास 2182 टैंक हैं। पाकिस्तानी नेवी के पास केवल 197 जलपोत हैं और इनमें एक भी एयरक्राफ्ट कैरियर नहीं है। पाकिस्तान के पास 5 पनडुब्बियां और 20 युद्धपोत हैं।

किस देश की कितनी सैन्य क्षमता?

वैसे तो हवाई ताकत अमेरिका के पास सबसे अधिक है। लेकिन एक्टिव सैनिकों के मामले में चीन इस समय दुनिया के हर देश से आगे है। चीनी सेना में इस वक्त 21 लाख 83 हज़ार एक्टिव सैनिक काम कर रहे हैं और 5 लाख से ज़्यादा रिज़र्व सैनिक भी चीन के पास मौजूद हैं।

Military Strength of India – Photo Courtesy: Pixabay

चीन के बाद सक्रिय सैनिकों के मामले में भारत का स्थान है। भारत के पास मौजूदा वक्त में 13 लाख 62 हज़ार 500 एक्टिव सैनिक हैं और 28 लाख रिज़र्व सैनिक हैं। भारत के बाद नंबर आता है अमेरिका जिसके पास 12 लाख 81 हज़ार 900 एक्टिव सैनिक हैं। वहीं उत्तर कोरिया के पास भी 12 लाख 80 हज़ार एक्टिव सैनिक मौजूद हैं।

Military Strength of India – Photo Courtesy: Pixabay

इस मामले में रूस पांचवे स्थान पर आता है। रूस के पास मौजूदा समय में 10 लाख 13 हज़ार 628 सैनिक मौजूद हैं। जबकि पाकिस्तान के पास महज़ 6 लाख 54 हज़ार सैनिक हैं।

Military Strength of India – Photo Courtesy: Pixabay

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *