Amjad Khan ने क्यों Sholay के बाद फिर कभी Salim-Javed के साथ काम नहीं किया

Gabbar and Kalia in Sholay - Photo: Social Media

Amjad Khan. हिंदी फिल्म इंडस्ट्री का ऐसा विलेन, जिसकी खूंखार हंसी ने जाने कितनों को खौफज़दा कर दिया। अमजद खान का जन्म 12 नवंबर 1940 को मुंबई में हुआ था। इनके पिता जयंत भी एक्टर थे।

अमजद खान ने शोले में जैसा अभिनय किया, वैसा कभी कोई और एक्टर नहीं कर पाया। शोले के गब्बर सिंह के किरदार ने अमजद खान को अमर कर दिया। ये सलीम-जावेद की जोड़ी थी जिन्होंने इस फिल्म में अमजद खान को काम दिलाया था।

Amjad-Khan
Amjad Khan – Photo: Social Media

लेकिन इसी फिल्म की शूटिंग के दौरान ही कुछ ऐसा भी हुआ, कि Amjad Khan ने शोले के बाद फिर किसी फिल्म में सलीम-जावेद के साथ काम नहीं किया। आज की पेशकश में आज हम आपको Amjad Khan का यही किस्सा बताएंगे।

ऐसे Amjad Khan बने शोले फिल्म का हिस्सा

ये बात तो आप भी जानते होंगे कि शोले के डायरेक्टर रमेश सिप्पी ने गब्बर सिंह का रोल पहले डैनी को ऑफर किया था। लेकिन डैनी ने इसलिए इन्कार कर दिया क्योंकि उन दिनों ही डैनी को अफगानिस्तान में फिरोज़ खान की फिल्म धर्मात्मा की शूटिंग के लिए जाना था।

डैनी के इन्कार करने के बाद सलीम खान और जावेद अख्तर इस रोल के लिए किसी दूसरे एक्टर को तलाशने लगे। तभी सलीम खान को अमज़द खान का चेहरा याद आया।

सलीम खान ने अमजद को दिल्ली में एक नाटक में एक्टिंग करते देखा था। सलीम खान ने डायरेक्टर रमेश सिप्पी से कहा, कि गब्बर सिंह के लिए वो अमजद खान को ले सकते हैं।

Amjad-Khan
Gabbar Singh in Sholay – Photo: Social Media

जावेद अख्तर को पसंद नहीं आए Amjad Khan

अमजद खान को गब्बर के रोल के लिए फाइनल कर लिया गया।

लेकिन जब अमजद खान शूटिंग के दौरान अपने डायलॉग बोल रहे थे,

तो जावेद अख्तर को उनकी आवाज़ पसंद नहीं आई।

उन्हें लगा कि अमजद खान की आवाज़ उतनी रौबदार नहीं है,

जितनी की गब्बर सिंह के किरदार के लिए होनी चाहिए।

तब सलीम-जावेद ने रमेश सिप्पी से कहा कि भले ही हमने इस लड़के का नाम आपको सुझाया हो।

लेकिन अगर आपको इसमें ज़रा भी कमी लगे तो आप इसे फिल्म से निकाल सकते हैं।

किसी और कलाकार को गब्बर के रोल के लिए तलाश कर लिया जाएगा।

Saliv-Javed
Saliv Javed – Photo: Social Media

अमज़द खान को बुरी लगी ये बात

ये बात अमजद खान तक भी पहुंची। सलीम-जावेद की ये बात अमजद को बेहद बुरी लगी।

इस घटना के बाद से अमजद खान और सलीम जावेद के बीच गलतफहमियां पैदा हो गई।

ये गलतफहमियां इतनी ज़्यादा बढ़ी कि फिर कभी अमजद खान ने सलीम जावेद के साथ काम नहीं किया।

शोले की शूटिंग पूरी हुई और आखिरकार फिल्म ने सिल्वर स्क्रीन पर दस्तक दी।

अमजद खान ने अपनी एक्टिंग से कमाल कर दिया।

अमजद ने इतनी शानदार एक्टिंग की कि उनका नाम बॉलीवुड के इतिहास में सुनहरे अक्षरों में दर्ज हो गया।

Amjad-Khan
Amjad Khan – Photo: Social Media

ये था अमज़द की कामयाबी का आलम

गब्बर सिंह के रोल ने अमजद खान को कितना लोकप्रिय किया इसका अंदाज़ा इस बात से लगाया जा सकता है,

कि उस दौर की भारत की एक बड़ी बिस्कुट निर्माता कंपनी ने अमजद को अपना ब्रांड एंबेसडर बनाया था।

हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में ये पहला मौका था जब किसी विलेन को विज्ञापनों में लीड में लिया गया हो।

अमजद खान सालों पहले ये दुनिया छोड़कर चले गए।

लेकिन अपने हुनर से वो लोगों के ज़ेहन में खुद को ज़रूर अमर कर गए।

Amjad-Khan
Amjad Khan – Photo: Social Media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *