Cactus से इन दो लड़कों ने बना दिया ऐसा चमड़ा कि अब बच जाएगी अरबों जानवरों की जान

Source: indiatimes

आपने घरों में सजावट के लिए Cactus के पौधे ज़रूर लगाएंगे। लेकिन आज हम आपको एक कहानी सुनाएंगे। लोपेज वेलार्डे और मार्टे। ये दोनों दोस्त हैं। दोनों साथ में बिजनेस करते हैं। दोनों ने अपनी मेहनत और अपनी सूझ-बूझ से एक ऐसी चीज़ की खोज की है जिससे ना सिर्फ हमारे पर्यावरण को काफी फायदा होगा, बल्कि अरबों जानवरों की जान की भी सुरक्षा होगी।

इन दोनों लड़कों ने एक खास किस्म के Cactus से चमड़े जैसे एक फैब्रिक को तैयार किया है।

Source: libertyleathergoods

कौन सी कैक्टस किस्म से बनाया फैब्रिक?

कैक्टस की इस खास किस्म का नाम है डिसर्टो कैक्टस। इनकी इस खोज के बाद दावा किया जा रहा है कि तकरीबन एक अरब जानवरों की जान बच सकेगी। साथ ही पर्यावरण को भी सीधा फायदा होगा। खबरों की मानें तो लेदर इंडस्ट्री हर साल लगभग 1 अरब जानवरों की खाल से लेदर प्रोडक्ट्स का निर्माण करती है। इतनी बड़ी मात्रा में लेदर निर्माण के लिए बड़ी मात्रा में ही पानी की भी ज़रूरत पड़ती है। इतने लैदर निर्माण में 1 टन पानी का भी उपयोग होता है।

पर्यावरण को भी होगा फायदा

इतना ही नहीं, जानवरों की खाल से बने चमड़े को कई तरह के ट्रीटमेंट प्रोसेस से भी गुज़रना पड़ता है जिसमें विभिन्न प्रकार के केमिकल्स का इस्तेमाल भी किया जाता है। इन कैमिकल्स से पर्यावरण को नुकसान भी काफी पहुंचता है। जो लोग नकली लेदर का इस्तेमाल ये सोचकर करते हैं कि उसमें जानवरों की चमड़ी नहीं होती वो ये जान लें कि उसमें प्लास्टिक ज़रूर होता है। प्लास्टिक भी पर्यावरण के लिए खतरनाक है।

Source: planetbox

कैसा है ये फैब्रिक?

लेकिन इन दोनों दोस्तों ने कैक्टस से जो फैब्रिक बनाया है वो लेदर जैसी क्वालिटी का ही है। साथ ही पूरी तरह से सेफ और सही भी है। इनका बनाया ये फैब्रिक ईकोफ्रेंडली और बायोडिग्रेबल है। कीमत भी इसकी लैदर जितनी ही है। अब बस इंतज़ार कीजिए इनके बनाए इस प्राकृतिक लेदर से बने उत्पादों के बाज़ार में आने का। उसके बाद ही मालूम चल पाएगा कि ये दोनों दोस्त अपनी मुहिम में कितना सफल हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *